Is Lalu Mulayam Reunion a non event?

For last few days one political development has taken everyone with surprise , the development of political reunion of Lalu Prasad Yadav and Mulayam Singh Yadav and even cementing this relation into  bond of marriage relationship.

I have tried to read between the lines of  this reunion and its larger implications on Indian politics. Continue reading “Is Lalu Mulayam Reunion a non event?”

Advertisements

Will Prakash Karat be new Harkishan singh Surjeet?

Merely a one week ago the Congress strong man and leader from Kerala A K Antony hinted that Congress is not averse to doing business with left front if such situation arises. But general secretary of CPI (M) Prakash karat took only less than one week to respond to this congress overtures and laid down his plan for the next general elections where he will try to repeat Harkishan Singh Surjeet for himself. Prakash Karat hopes to repeat the era of 1996 in Indian politics and emerge as the pivotal to non congress secular front. Continue reading “Will Prakash Karat be new Harkishan singh Surjeet?”

मोदी से कौन डरता है?

भारत में आम चुनाव होने में वैसे तो अभी एक वर्ष का समय शेष है परंतु जिस प्रकार की चर्चायें और बहस राजनीतिक विश्लेषकों और राजनीतिक दलों के मध्य चल रही है उससे तो अलग ही संकेत मिलते दिखायी दे रहे हैं। इन सबके मध्य यह अवश्य विचारणीय विषय है और शोध का भी विषय है कि गुजरात के मुख्यमंत्री देश और देश से बाहर सर्वाधिक चर्चा के केंद्र में क्यों है? गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की राजनीति को ध्रुवीकृत कर दिया है  हालाँकि उस संदर्भ में नहीं जैसा कि उनके विरोधी चाहते हैं परंतु इतना अवश्य है कि आज की स्थिति में या तो आप मोदी के समर्थक हैं या उनके विरोधी । इसमें तटस्थ जैसी कोई बात नहीं रह गयी है। इसलिये इस पर चर्चा करना स्वाभाविक है कि नरेंद्र मोदी  विश्व भर के वामपंथियों और समाजवादियों को  क्यों फूटी आँखों नहीं सुहाते? Continue reading “मोदी से कौन डरता है?”